17 दिसंबर 2018 रायपुर। भूपेश बघेल ने मुख्यमंत्री की शपथ लेने के ढाई घंटे बाद तीन बड़े फैसले लिए। सीएम भूपेश बघेल ने किसानों की कर्जमाफी का आदेश दे दिया है। आज मंत्रीमंडल की बैठक में भूपेश बघेल ने इस बात का आदेश दे दिया है। शपथ ग्रहण के तुरंत बाद भूपेश बघेल ने कैबिनेट की बैठक ली, बैठक में तीन महत्वपूर्ण फैसले लिये हैं। बैठक में कर्जमाफी के अलावे, समर्थन मूल्य बढ़ाने और झीरम मामले की एसआईटी गठन को लेकर फैसला लिया गया है। इस बैठक में मंत्री ताम्रध्वज साहू और टीएस सिंहदेव व चीफ सेक्रेटरी अजय सिंह मौजूद रहे।

भूपेश सरकार ने लिए ये फैसले 
– सहकारी बैंकों में 16.65 लाख के किसानों के 6100 करोड़ से ज्यादा की ऋण माफी होगी माफ होगी। वहीं अन्य मदों में बैंकों से लिये ऋण का भी परीक्षण किया जायेगा, उसे भी माफ किया जायेगा।
– किसानों का समर्थन मूल्य भी अब 2500 रुपये प्रति क्विटंल मिलेगा।
– अभी 1750 रुपये किसानों को समर्थन मिला करता था, अब किसानों को प्रोत्साहन राशि मिलाकर 2500 रुपये प्रति क्विटंल के हिसाब धान की खरीदी की जायेगी।
– झीरम घाटी मामले की जांच के लिए SIT के गठन का आदेश दे दिया गया है। एसआईटी अब इस पूरे मामले की जांच करेगी।
– भूपेश बघेल ने अपने प्रेस कांफ्रेंस की शुरुआत में अपनी बदली हुई भूमिका का जिक्र किया।
– कल तक हमारी भूमिका अलग थी, मैं पीसीसी अध्यक्ष था, टीएस सिंहदेव नेता प्रतिपक्ष थे, हमलोग सरकार के कामों को अलग नजरिये से देखते थे, लेकिन अब हमारी भूमिका बदल गयी है।
– मीडिया हाउस के मालिकों के साथ क्या हुआ, उसे मैं नहीं जानता, लेकिन पत्रकारों के साथ प्रताड़ना ना हो, इसका मैं पूरा विश्वास दिलाता हूं।
– मीडिया समाज को आईना दिखाने का काम करता है, पत्रकार जो समस्या उठायेंगे, उस पर काम होगा।

SHARE