नई दिल्ली। कांग्रेस अध्यक्ष राहुलगांधी ने राफेल मुद्दे पर दिए गए चौकीदार चोर है बयान पर उच्चतम न्यायालय में आज खेद जताया है। हाल ही में राहुल गांधी ने राफेल डील मामले को लेकर प्रधानमंत्री नरेन्द्रमोदी पर टीप्पणी की थी कि अब उच्चतम न्यायालय ने भी मान लिया कि चौकीदार ही चोर है, राहुल के उस बयान पर बीजेपी सांसद मीनाक्षी लेखी ने याचिका दायर कर न्यायालय के अवमानना की शिकायत दर्ज कराई थी।राहुल ने अपने बयान पर सफाई देते हुए माना कि वो जोश और उत्तेजना में ऐसा बयान दे दिए थे, जिस पर उन्हें खेद है।

विदित हो कि उच्चतम् न्यायालय ने लीक दस्तावेजों को वैध मानते हुए राफेल डील पर पुनर्विचार याचिका स्वीकार दी थी न्यायालय के बयान को गलत ढग़ से पेश किया है। न्यायालय ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को नोटिस जारी करते हुए 22 अप्रैल को जवाब देने कहा था।इस अवमानना मामले की सुनवाई करते हुए न्यायालय ने कहा कि हम स्पष्ट करते हैं कि राहुल गांधी ने इस अदालत का नाम लेकर राफेल सौदे के बारे में मीडिया और जनता में जो कुछ कहा वो गलत है। राफेल मामले में दस्तावेजों को स्वीकार करने के लिए उनकी वैधता पर सुनवाई करते हुए न्यायालय ने इस तरह की न कोई टिप्पणी की है और न ही ऐसा कोई मौका आया है। न्यायलीन प्रक्रिया के दौरान राहुल ने अपने वक्तव्य पर सफाई देते हुए माना की वा जोश और उत्साह में चौकीदार ही चोर है कह गए और इसके लिए उन्होंने न्यायालय के समक्ष खेद भी व्यक्त किया।

SHARE